अयोध्या में मंदिर बने, लखनऊ में मस्जिद: शिया वक्फ बोर्ड

0
144

लखनऊ। उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड ने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले में विभिन्न अदालतों में उसकी तरफ से फर्जी वकील खड़े किए जाने का आज आरोप लगाते हुए इसकी जांच की मांग की। शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के साथ संयुक्त रूप से संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि अयोध्या विवाद की अदालती कार्यवाही के दौरान उनके बोर्ड को यह पता ही नहीं लग सका कि अदालत में उसका कोई वकील भी खड़ा है। उन्होंने दावा किया कि जब संबंधित फाइलों का मुआयना किया गया तो पता लगा कि अदालतों में ऐसे वकील खड़े किए गए जिनके नाम शिया वक्फ बोर्ड की तरफ से कोई वकालत नामा भी नहीं था। रिजवी ने सरकार से इस प्रकरण की जांच और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।

उन्होंने कहा कि शिया वक्फ बोर्ड पर अयोध्या विवाद मामले में अचानक सक्रिय होने का आरोप लगाया जा रहा है जबकि सच्चाई यह है कि उसे पता ही नहीं था कि अदालत में उसकी तरफ से वकील खड़े किए गए हैं। सरकार इस बात की जांच करें कि शिया वक्फ बोर्ड की तरफ से ऐसे वकीलों को किसने खड़ा किया, जिन्होंने अदालत में इस मामले में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here