कैसे पहचानें डिप्रेशन की दस्तक

0
116

जिस तरह शारीरिक परेशानी की पहचान कर उसका तुरंत इलाज शुरू करना जितना जरूरी है उतना ही जरूरी है तनाव के दौर से गुजर रहे किसी व्यक्ति की मनःस्थिति को जानकर उसका इलाज शुरू करना।

लेकिन शारीरिक बीमारियों की तरह इसके कोई निशान शरीर पर नजर नहीं आते है ऐसे में मन से बीमार व्यक्ति की पहचान किस प्रकार की जाए ताकि उसे सही समय पर इलाज मिल सके।

इनसे ला सकते हैं बदलाव:-स्वस्थ जीवनशैली अपनाएं नियमित व्यायाम, संतुलित आहार लें। नुकसान पहुंचाने वाली आदतें जैसे अत्यधिक अल्कोहल लेना, धूम्रपान और ड्रग की लत। -परेशानी की पहचान कर उसे मैनेज करना सीखें। -जहां भी जरूरत हो अपने परिवार या दोस्तों से सपोर्ट लें, यदि परेशानी अधिक बढ़ जाए तो विशेषज्ञ से जरूर सलाह लेनी चाहिए।

ये हो सकते हैं लक्षण:- यदि कोई अनमना सा हो: आपके परिवार में या आपका कोई मित्र अनमना सा रहने लगा हो और भावनाओं के वश में आकर अधिक मात्रा में खाना शुरू कर दिया हो तो उनसे बात करें कि कहीं उन्हें आपकी मदद की जरूरत तो नहीं। लत की गिरफ्त में हो: अल्कोहल, कैफीन या ड्रग जैसी चीजों में ज्यादा-से-ज्यादा डूबा रहता हो तो इसका मतलब है कि वह अपनी किसी समस्या या दुख से भागने के लिए ऐसा कर रहा है। उत्साह हो जाए खत्म: आपके परिवार या किसी मित्र में किसी काम के प्रति बहुत थोड़ा ही उत्साह बचा हो तो इसका मतलब है कि वह डिप्रेशन में है। भावनाओं में उतार-चढ़ाव: एक पल कोई खुश और अगले ही पल दुखी नजर आए तो इसका मतलब है कि उसके अंदर कोई न कोई समस्या अवश्य चल रही है, जिसे सुलझाने की जरूरत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here